Homeहेल्थभोजन की सही मात्रा से बढ़ती है आप की उम्र : डॉ....

भोजन की सही मात्रा से बढ़ती है आप की उम्र : डॉ. सुनीत मिश्रा

मधुकर त्रिपाठी

लखनऊ: प्रकृति के अनुरूप अपने प्रदेश व जिले में उपलब्ध मौसमी खाद्य पदार्थों का सेवन कर आप अपने शरीर को निरोगी और स्वस्थ रख सकते हैं। यही आयुर्वेद का मूलत: संदेश है। जबकि लोग इसका उल्टा कर रहे हैं। आयुर्वेद में तमाम बीमारियों को रोकने के लिए व्यक्ति की जीवनशैली के साथ खानपान की आदतों को बदलने पर जोर दिया जाता है। इससे तीनों दोष वात, पित्त और कफ का संतुलन बना रहेगा और आप जीवनभर स्वस्थ बने रहेंगे।

आयुर्वेद के अनुसार, हर व्यक्ति को सही मात्रा में ही भोजन करना चाहिए। भोजन की सही मात्रा वात, पित्त और दोष पर किसी भी प्रभाव के बिना आपकी उम्र बढ़ाते हैं। अक्सर ऐसा देखने को मिलता है कि जिस खाद्य पदार्थ को जिस सीजन में खाना चाहिए उसको हम नहीं खाते, प्रकृति और मौसम के हिसाब से अपना खान-पान और रहन सहन सही नहीं रखते जिससे शरीर धीरे-धीरे कमजोर होकर बीमार होने लगता है। यह कहना है केजीएमयू के वरिष्ठ आयुष परामर्शदाता डॉ. सुनीत मिश्रा का।

स्वास्थ्य ही सबसे बड़ी पूंजी

डॉ. सुनीत ने बताया कि स्वास्थ्य ही सबसे बड़ी पूंजी है। आयुर्वेद में सभी प्रकार के रोगों का इलाज संभव है। आयुर्वेद के जनक भगवान धनवंतरी ने आयुर्वेद को आठ अंगों में बांट कर समस्त रोगों की चिकित्सा पद्धति विकसित की। आयुर्वेद हमें हमसे हमारी जमीन से जोडऩे का कार्य करता है। हमें शुद्ध कर निरोग करता है। आज के समय में क्या खाएं और क्या नहीं यह आमजनमानस के सामने बड़ा प्रश्न है। बाजार में मिलावटी खाद्य सामग्रियों की भरमार पड़ी है। आपको ऐसी दुनियाभर की खबरें पढऩे को मिल रही होंगी जिनमें हेल्दी खाने के टिप्स बताए जाते हैं।

उन्होंने बताया कि अगर आप रीजनल, सीजनल और ओरिजनल की तरफ ध्यान देंगे तो आप के सामने क्या खाएं और क्या नहीं जैसे बड़े प्रश्न का जवाब स्वत: ही मिल जाएगा। प्रकृति ने ऋतु के अनुसार हर चीज को बनाया है, लेकिन हम हैं कि प्रकृति के विपरीत चल रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि इस वक्त कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए सबसे अधिक जरूरी अपनी प्रतिरक्षण क्षमता को बढ़ाना है। जिसके उपाय आयुर्वेद में हैं। सादा भोजन करें। हो सके तो सीजनल फलों का सेवन करें। लौकी, तरोई और सेंधा नमक का इस्तेमाल आप इन भयानक गर्मियों में कर सकते हैं। ये तीनों शरीर में क्षारीयता के संतुलन को बैलेंस रखने में काफी मदद करती हैं।

यह भी पढ़ें :- बीबीएयू रैगिंग मामला नहीं हो रहा शांत, शिवम सहित 15 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज

RELATED ARTICLES
Continue to the category

Most Popular