Homeदेशअच्छी खबर : डेंगू से लड़ने के लिए वैज्ञानिकों ने विकसित की...

अच्छी खबर : डेंगू से लड़ने के लिए वैज्ञानिकों ने विकसित की नई प्रजाति का मच्छर

नई दिल्ली। डेंगू से लड़ने के लिए वैज्ञानिकों ने मच्छर की एक नई प्रजाति विकसित की है। दरअसल मेडिकल साइंस में डेंगू का कोई कारगर इलाज नहीं है। इसे एक ऐसी बीमारी माना जाता है जिससे हमारा शरीर खुद लड़ता है और उसे खुद ठीक करता है। इंडोनेशिया के शोधकर्ताओं ने डेंगू के मच्छर से लड़ने के लिए मच्छरों की एक दूसरी प्रजाति को पालने का तरीका इजाद किया है। उनका दावा है कि इन मच्छरों के अंदर एक तरह का बैक्टीरिया होता है जो डेंगू के वायरस से लड़ सकता है।

यह भी पढ़ें – उपचुनाव : चौंकाने वाले नतीजे सामने आए, सत्तारूढ़ दलों को लगा झटका

इन दिनों देश के कई इलाकों में डेंगू का प्रकोप है। कई बार यह जानलेवा भी साबित हो जाता है।डाउन टू अर्थ वेबसाइट के मुताबिक इस शोध की शुरुआत विश्व मच्छर कार्यक्रम यानी डब्ल्यूएमपी के तहत हुई थी। इस शोध में वोल्बाचिया नामक एक बैक्टीरिया के बारे पता चला जो कीड़े-मकोड़ों की 60 से अधिक प्रजातियों में पाया जाता है। इनमें कुछ खास तरह के मच्छर, फल, मक्खियां, कीट-पतंगे, ड्रैगनफ्लाई और तितलियां भी शामिल हैं, लेकिन यह बैक्टीरिया डेंगू फैलाने वाले एडीज एजिप्टी मच्छरों में नहीं पाया जाता है। डब्ल्यूएमपी के मुताबिक सैद्धांतिक रूप से हम अच्छे मच्छरों को पाल रहे हैं। डेंगू फैलाने वाले मच्छर वोल्बाचिया वाले मच्छरों के साथ प्रजनन करेंगे जिसे वोल्बाचिया मच्छर पैदा होंगे। इस मच्छर में वोल्बाचिया बैक्टीरिया के पाए जाने के कारण इसे अच्छे मच्छर कहा जाता है. अगर वे लोगों को काटते भी हैं तो उससे इंसान को कोई संक्रमण नहीं लगेगा।

RELATED ARTICLES
Continue to the category

Most Popular